Wednesday, June 19, 2024
Positive outlook on the economy

Latest Posts

ट्रक और टैक्सी ड्राइवरों के लिए हाइवेज पर एक हज़ार मॉडर्न बिल्डिंग योजना का आगाज़

भारत मोबिलिटी ग्लोबल एक्सपो 1-3 फरवरी 2024- गतिशीलता और आपूर्ति श्रृंखला समुदाय एक साथ एक मंच-जोरदार पंच
सभी नेशनल हाईवेज पर ड्राइवरों के लिए नई सुविधाओं वाले आधुनिक भवनों का निर्माण होना मील का पत्थर साबित होगा- एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया
गोंदिया- वैश्विक स्तरपर भारत की प्रतिष्ठा का ऐसा आगाज है हो चुका है कि जब भारत बोलता है तो सारी दुनियां एकटक होकर ध्यान से सुनती है,वही एकजमाना ऐसा भी था जब भारत परअंग्रेजों ने 200 से अधिक वर्षों तक राज किया था, आज वही भारतवंशी वहां पर राज कर रहा है जिसे पछाड़ कर भारत आज विश्व की पांचवी अर्थव्यवस्था बन गया है और शीघ्र ही तीसरी भी बन जाएगा जिसका अंदेशा दुनिया के सर्वाधिक एजेंसीयों भी लग रही होगा,इसी विकसित भारत बनने की कड़ी में नई दिल्ली में भारत मोबिलिटी ग्लोबल एक्सपो 1 से 3 फरवरी 2024 शुरू हो चुका है, जिसमें माननीय पीएम शुक्रवारभारत मोबिलिटी ग्लोबल एक्सपो दिनांक 2 फरवरी 2024 को शामिल हुए जिसमें अन्य कई बातों के साथ ट्रक और टैक्सी ड्राइवरों के लिए एक हज़ार मॉडर्न बिल्डिंग योजना की बात गई जिसमें सभी नेशनल हाईवेज पर ड्राइवरोंके लिए नई सुविधाओं से युक्त आधुनिक भवनों का निर्माण किया जाएगा जो ड्राइवरों के आराम के लिए उपयुक्त होगा जो उनकी सुविधाओ में मील का पत्थर साबित होगा।कुछ जानकारों द्वारा अंदेशा लगाया जा रहा है कि कहीं यह पिछले दिनों जोरदार ढंग से ड्राइवरों द्वारा की गई हड़ताल जो कि नए फौजदारी कानून में दस वर्ष की सजा का प्रावधान और नए नियमों को तैयार किया गया है उस संबंध से कहीं ना कहीं यह तीनों अधिनियम लागू करने की तैयारी सेउन्हें खुश करने की रेवड़ियां तो नहीं बांटी जा रही है, परंतु मेरा मानना है ऐसा नहीं होगा क्योंकि इसकी घोषणा पीएम ने खुद की है और पूरे विश्व ने सुना है। बता दें कि माननीय पीएम शुक्रवार को भारत मोबिलिटी ग्लोबल एक्सपो 2024 में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने ट्रक ड्राइवरों के लिए बड़ा ऐलान किया। उन्होंने कहा कि ट्रक ड्राइवरों के लिए नेशनल हाईवे पर नई सुविधा वाले आधुनिक भवन बनेंगे, जहां खाने, पानी, टॉयलेट की व्यवस्था होगी। पहले फेज में ऐसे एक हज़ार भवन बनेंगे। उन्होने कहा कि जो ट्रक चलाते हैं, जो टैक्सी चलाते हैं, वो ड्राइवर हमारी सामाजिक और आर्थिक व्यवस्था का एक अभिन्न हिस्सा हैं। अक्सर ये ड्राइवर्स कई घंटे लगातार ट्रक चलाते हैं, इनके पास आराम का समय नहीं होता। ड्राइवर्स को बीच सफर में आराम देने के लिए केंद्र सरकार ने एक नई योजना पर काम शुरू किया है। चूंकि भारत मोबिलिटी ग्लोबल एक्सपो 1-3 फरवरी 2024 गतिशीलता और आपूर्ति को एक साथ लाया है,जिसमें ड्राइवर यानीपरिचालकों की महत्वपूर्ण भूमिका है, इसलिए आज हम मीडिया में उपलब्ध जानकारी के सहयोग से इस आर्टिकल के माध्यम से चर्चा करेंगे,सभी नेशनल हाईवे पर ड्राइवरों के लिए नई सुविधाओं वाले आधुनिक भवनों का निर्माण होना मील का पत्थर साबित होगा।
साथियों बात अगर हम माननीय पीएम द्वारा ट्रक ड्राइवरों के लिए बड़े ऐलान की करें तो,पीएम ने कहा कि इस योजना के तहत सभी नेशनल हाईवेज पर ड्राइवरों के लिए नई सुविधाओं वाले आधुनिक भवनों का निर्माण होगा। शुरू में ऐसे एक हजार भवन बनाए जाएंगे। पीएम ने कहा कि आज भारत की अर्थव्यवस्था का तेजी से विस्तार हो रहा है। हमारी सरकार के तीसरे कार्यकाल में भारत का दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनना तय है। हमारी सरकार के प्रयासों से पिछले 10 वर्षों में करीब 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले हैं। आज का भारत भविष्य की नीतियों को ध्यान में रखते हुए नई नीतियां बना रहा है। इसमें निश्चित तौर पर मोबिलिटी सेक्टर के लिए विशेष जगह है।
साथियों बात अगर हम मोबिलिटी सेक्टर पर एक्सपो में खास ध्यान देने की करें तो इसमें दिनांक 2 फरवरी 2024 को पीएम ने सभा को संबोधित करते हुए,भव्य आयोजन के लिए भारत के ऑटोमोटिव उद्योग को बधाई दी औरएक्सपो में अपने उत्पादों का प्रदर्शन करने वाले प्रदर्शकों के प्रयासों की सराहना की। देश में इतने भव्य और स्‍टैंडर्ड के कार्यक्रम का आयोजन उन्हें प्रसन्नता और आत्मविश्वास से भर देता है। दिल्ली के लोगों को भारत मोबिलिटी ग्लोबल एक्सपो 2024 देखने आने की सलाह देते हुएपीएम ने कहा कि यह संपूर्ण गतिशीलता और आपूर्ति श्रृंखला समुदाय को एक मंच पर लाता है।भारत अब एक वैश्विक आर्थिक महाशक्ति बनने की दहलीज पर है, जिसमें ऑटो और मोटर वाहनों के पुर्जे बनाने वाले उद्योग महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। वैश्विक ऑटोमोटिव बाजार में भारत के कद पर प्रकाश डालते हुए, पीएम ने टिप्पणी की,आज, भारत यात्री वाहनों के लिए दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा बाजार है और वैश्विक स्तर पर वाणिज्यिक वाहनों का निर्माण करने वाले शीर्ष तीन देशों में से एक है।इसके अलावा, पीएम ने उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना जैसी पहल के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों का समर्थन करने की सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई। उन्होंने कहा,उद्योग के लिए सरकार ने 25, हज़ार करोड़ रुपये से अधिक की उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना शुरू की है। उन्होने कहा कि कल जो बजट पेश हुआ है आप उसमें भी इसका विजन देख पाते होंगे। कल बजट में जिन 3 रेलवे इकोनॉमिक कॉरिडोर की घोषणा की गई है वो भी भारत में इज ऑफ ट्रांसपोर्टेशन को बढ़ाने का काम करेगी। 2014 से पहले 10 साल के दौरान देश में करीब 12 करोड़ गाड़ियों की ही बिक्री हुई। वहीं 2014 के बाद से देश में 21 करोड़ से अधिक गाड़ियों की बिक्री हो चुकी है।उन्होने भव्य आयोजन के लिए भारत के ऑटोमोटिव उद्योग को बधाई दी और एक्सपो में अपने उत्पादों का प्रदर्शन करने वाले प्रदर्शकों के प्रयासों की सराहना की। देश में इतने भव्य और स्‍टैंडर्ड के कार्यक्रम का आयोजन उन्हें प्रसन्नता और आत्मविश्वास से भर देता है। यह संपूर्ण गतिशीलता और आपूर्ति श्रृंखला समुदाय को एक मंच पर लाता है। इस वर्ष के बजट में अनुसंधान और नवाचार को प्रोत्साहित करने के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का फंड आवंटित किया गया है और स्टार्टअप्स को दी गई कर छूट को और बढ़ाने के निर्णय का भी उल्लेख किया। ये फैसले मोबिलिटी क्षेत्र में नए अवसर पैदा करेंगे। ईवी उद्योग में लागत और बैटरी की सबसे महत्वपूर्ण चुनौतियों पर बात करते हुए, पीएम ने अपने अनुसंधान में इन निधियों का उपयोग करने की सिफारिश की। पीएम ने कहा कि रिसर्च और टेस्टिंग को और बेहतर करने के लिए नेशनल प्रोजेक्ट को 3,200 करोड़ रुपए दिए गए हैं। नेशनल इलेक्ट्रिक मोबिलिटी मिशन की मदद से भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के निर्माण को नई गति मिली है। इलेक्ट्रिक व्हीकल की गति को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने करीब 10 हजार करोड़ का निवेश किया है।बता दें कि भारत मोबिलिटी ग्लोबल एक्सपो 2024 में वीइकल मैन्युफैक्चरर्स के साथ,एसीएमए अटोमेचन  के तहत 600 से ज्यादा वीइकल कॉम्पोनेंट्स मैन्युफैक्चरर्स, 50 बैटरी कंपनियां, 10 टायर मैन्युफैक्चरर्स, 15 से ज्यादा टेक्नॉलजी सेक्टर के स्टार्टअप और पांच इस्पात विनिर्माता शामिल होंगे। इस ग्लोबल एक्सपो में जापान, जर्मनी, साउथ कोरिया, ताइवान और थाइलैंड जैसे देशों के पवेलियन तो होंगे ही, साथ ही इसमें अमेरिका, स्पेन, यूएई, रूस, इटली, तुर्की, सिंगापुर और बेल्जियम से इंटरनैशनल पार्टिसिपेंट्स हो रहें हैं।
अतः अगर हम उपरोक्त पूरे विवरण का अध्ययन कर इसका विश्लेषण करें तो हम पाएंगे कि ट्रक और टैक्सी ड्राइवरों के लिए हाइवेज पर एक हज़ार मॉडर्न बिल्डिंग योजना का आगाज़।भारत मोबिलिटी ग्लोबल एक्सपो 1-3 फरवरी 2024-गतिशीलता और आपूर्ति श्रृंखला समुदाय एक साथ एक मंच-जोरदार पंच।सभी नेशनल हाईवेज पर ड्राइवरों के लिए नई सुविधाओं वाले आधुनिक भवनों का निर्माण होना मील का पत्थर साबित होगा।
-संकलनकर्ता लेखक – कर विशेषज्ञ स्तंभकार एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया महाराष्ट्र

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.