Thursday, June 20, 2024
Positive outlook on the economy

Latest Posts

राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष हंसराज अहीर के विशेष प्रयासों से फिलीपिंस से मेडिकल की पढ़ाई पूरी करने वाले छात्रों को बड़ी राहत

प्रविष्टि तिथि: 14 FEB 2024

राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष श्री हंसराज गंगाराम अहीर के विशेष प्रयासों से फिलीपींस से एमबीबीएस मेडिकल की पढ़ाई पूरी करने वाले 3200 भारतीय विद्यार्थियों को बड़ी राहत मिली है। राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग कार्यालय में नेशनल मेडिकल कांउसिल (एनएमसी) के अधिकारियों के साथ सुनवाई कर इन विद्यार्थियों को न्याय दिलाया गया है।

नेशनल मेडिकल कांउसिल (एनएमसी) ने देश भर में  फिलीपींस से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करके आने वाले सभी मेडिकल विद्यार्थियों को प्रमाणपत्र देने के लिए फिर से नीट परीक्षा देना अनिवार्य कर दिया था। जिसके चलते विद्यार्थियों के समक्ष गंभीर समस्या उत्पन्न हो गई थी। फिलीपींस से मेडिकल शिक्षा प्राप्त करके आए पिछड़े वर्ग के विद्यार्थियों ने नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के कार्यालय में आयोग के अध्यक्ष श्री हंसराज अहीर से भेंट कर उनके समक्ष अपनी व्यथा रखी थी। उक्त विषय पर गंभीरतापूर्वक संज्ञान लेते हुए श्री हंसराज अहीर ने एनएमसी तथा संयुक्त सचिव, स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों को आयोग के समक्ष सुनवाई के लिए बुलाया जिसमें विद्यार्थियों द्वारा 2017 में नीट परीक्षा देने की बात सिद्ध हुई थी और इसके चलते समस्या समाधान निकालने का आदेश दिया था। इस सुनवाई में अध्यक्ष तथा श्री भुवन भुषण कमल, सदस्य, सचिव व संबंधित छात्र उपस्थित थे।

उक्त आदेश अनुसार नेशनल मेडिकल कांउसिल (एनएमसी) के अधिकारियों ने पुनः नीट परीक्षा देने का आदेश वापस लेकर संबंधित विद्यार्थियों को पात्रता प्रमाणपत्र जारी किए। श्री हंसराज अहीर की इस पहल से सभी मेडिकल विद्यार्थियों को न्याय मिला है। इसके चलते हाल ही में विद्यार्थियों के शिष्टमंडल ने चंद्रपुर स्थित कार्यालय में श्री अहीर से भेंट की तथा उन्हें पुष्पगुच्छ देकर उनका आभार जताया ।

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.